Home Featured चुनाव की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी एवं एसएसपी ने की बैठक।
2 weeks ago

चुनाव की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी एवं एसएसपी ने की बैठक।

दरभंगा: विधान सभा चुनाव को लेकर जिलाधिकारी डॉ• त्यागराजन एसएम और वरीय पुलिस अधिक्षक बाबू राम ने आज समिक्षा बैठक की। अम्बेदकर सभागर में सम्पन्न हुई समिक्षा बैठक की अधिकृत रूप से दी गई जानकारी के अनुसार जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी निवार्ची पदाधिकारी को अपने-अपने क्षेत्र के रैली ग्राउंड की मैपिंग अच्छी तरह से करा लेने तथा ग्राउंड में 06 फीट की दूरी पर मार्किंग कराते हुए रैली ग्राउंड के लिए बनाई गई कार्य योजना 02 दिनों के अंदर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ग्राउंड (मैदान) में निर्धारित क्षमता के अनुसार भीड़ एकत्रित हो, यह सेक्टर दंडाधिकारी एवं सेक्टर पुलिस पदाधिकारी सुनिश्चित कराएंगे। रैली मैदानों की सूची नाम निर्देशन के दौरान प्रत्याशियों को हस्तगत कराया जाए। जिसमें अंकित रहे कि क्षमता से अधिक भीड़ होने पर प्रत्याशी एवं रैली के आयोजक पूर्णत: जिम्मेवार होंगे तथा कोविड गाईडलाइन के आदेश के उल्लंघन के विरुद्ध आपदा प्रबंधन के अधिनियम की धारा-51 से 60 एवं भा.द.सं की धारा 188 के तहत कारवाई की जाएगी। उन्होंने व्यय अनुश्रवण कोषांग को कहा कि वी.एस.टी. को इसका प्रशिक्षण अच्छी तरह से प्रदान किया जाए। उन्होंने सभी निवार्ची पदाधिकारी को कोविड नॉर्म्स के अनुपालन के एंगल से वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी करवाने के निर्देश दिए तथा जहां भी इसके उल्लंघन के मामले पाए जाए वहां तुरंत प्राथमिकी दर्ज करायी जाए। विधि व्यवस्था को लेकर उन्होंने कहा कि जिले में कहीं से भी शराब का प्रवेश ना हो, न ही इसका सेवन हो, इसके लिए लगातार जांच होनी चाहिए, लिकर के विरूद्ध अभियान चलाया जाए। एफ.एस.टी. एवं एस.एस.टी. इस पर नजर रखें। संदिग्ध वाहनों एवं संदिग्ध आदमियों की जांच प्रत्येक नाका पर लगातार की जाए। 107 एवं बॉन्ड डॉउन की कार्रवाई पर्याप्त नहीं है। उन्होंने सभी एसडीओ को थानावार कोर्ट में लगवाने का निर्देश दिया और उसकी सूची बनाकर सभी जगह सर्कुलेट करवाने को कहा। उन्होंने कहा कि संप्रदायिक एवं जाति विद्वेष पर आधारित जितने भी मामले विगत 01 साल में घटित हुए हैं, उन सवों में संलिप्त पाए गए व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। उन्होंने मुख्य टोला एवं भेद्य टोला एवं भेद्य क्षेत्र की मैपिंग अच्छी तरह से करवाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि वैसे भवन जिसमें 06 से अधिक मतदान केंन्द्र बनाए गए हैं, वहां प्रवेश एवं निकास द्वार की संख्या बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि सीसीए (क्षेत्र बदर) के कई प्रस्ताव आए हैं, उनकी सुनवाई की जा रही है। उन्होंने सभी एसडीओ को एवं डी.एस.पी. को विधि व्यवस्था से संबंधित बैठक कर लेने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि पूर्व में कुशेश्वरस्थान के सुगरई, बहादुरपुर के कुछ स्थानों पर, केवटी, जाले, भरवारा, बिरौल, घनश्यामपुर, मनीगाछी, हायाघाट के रसलपुर में जातीय एवं संप्रदायिक तनाव हुए हैं। उन गांवों को चिन्हित करके सीपीएफ के साथ फ्लैग मार्च करा दें। कोविड-19 अनलॉक-05 के गाईडलाइन के अनुसार सार्वजनिक स्थलों पर मूर्ति एवं पंडाल का निर्माण करने पर मनाही है। अभी कोई जुलूस नहीं निकाला जाना है । जिला दंडाधिकारी ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी को इससे अपने क्षेत्र के सभी पूजा समिति को अवगत कराने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी निवार्ची पदाधिकारी को कहा कि नामांकन के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन करने के मामले में सख़्ती से कार्रवाई की जाए। निर्धारित व्यक्तियों से अधिक व्यक्ति के आने पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाए। जिला कृषि पदाधिकारी को सभी किसान सलाहकार को मतदान तिथि से पूर्व बूथ सैनिटाइजेशन करने के लिए प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने सभी आशा एवं ए.एन.एम को भी इंफ्रारेड थर्मोमीटर का प्रशिक्षण दे देने के निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा 100 डिग्री फारेनहाइट से ऊपर तापमान वाले को कोविड संदिग्ध माना जा रहा है। इसलिए 100 फॉरेनहाइट तक तापमान वाले मतदान केंन्द्र में प्रवेश करेंगे। मतदान केंन्द्र पर प्रयोग किए जाने वाले ग्लब्स एवं पीपीई किट्स पी.एच.सी. द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा। बैठक को संबोधित करते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि निर्वाचन को लेकर उच्चस्तरीय समीक्षा में बार-बार लिकर (शराब) को लेकर निर्देश दिए जा रहे हैं। सभी डीएसपी इंस्पेक्टर एवं थाना अध्यक्ष को इस पर गंभीरता से कार्रवाई करनी होगी। जो बड़े शराब माफिया हैं उनकी सूची बना लें। कितनी बार उसके विरुद्ध मुकदमा हुआ, कितनी बार शराब की बरामदगी हुई। यह भी उनके नाम के सामने अंकित करें तथा उनके यहां छापेमारी भी की जाए। शराब बनाने वाले पर कड़ी नजर रखें, चाहे चुलाई शराब हो या अन्य प्रकार की शराब हो, यह भी कहीं भी नहीं बनना चाहिए ऐसे लोगों के विरुद्ध लगातार सख्त कार्रवाई की जाए शराब विक्रेता को या होम डिलीवरी होने वाले को उन्हें चिन्हित करते हुए उनके यहां लगातार छापेमारी की जाए, जहां भी थाना में जप्त शराब हो उसे तुरंत नष्ट किया जाए। उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में पीसीसीपी के साथ सीपीएफ की प्रतिनियुक्ति होगी उनके एक पुलिस पदाधिकारी भी रहेंगे। उन्होंने कहा की धारा 107 एवं क्षेत्र बदर की कारवाई गुणवत्ता पूर्ण हो, कोई असामाजिक तत्व निरोधात्मक कार्रवाई से छूटने न पाए, यह सुनिश्चित करें। एफ एस टी,और एस एस टी अपने नाका पर लगातार चेकिंग करते रहें, बॉर्डर सीलिंग का मतलब है शत-प्रतिशत सीलिंग हो, दरभंगा के 3 नाका पर एस.एस.टी. को लगाया गया है। लेकिन अभी तक कहीं से कुछ पकड़े जाने की सूचना नहीं मिली है। इसी प्रकार शत-प्रतिशत शस्त्र जमा हो होनी चाहिए। अगर मतदान तिथि को कोई घटना घटित होती है, तो प्रश्न उठेगा की शस्त्र कहां से आया। जिनके क्षेत्र में शस्त्र का प्रयोग होगा उनके ऊपर ही जिम्मेदारी तय की जाएगी। बैठक में उप विकास आयुक्त तनय सुल्तानिया, नगर आयुक्त मनेश कुमार मीणा, नगर पुलिस अधीक्षक अशोक प्रसाद अपर समाहर्ता विभूति रंजन चौधरी, विभागीय जांच अखिलेश प्रसाद सिंह सहित तमाम संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे। बेनीपुर एवं बिरौल से संबंधित पदाधिकारी आॅनलाइन उपस्थित थे।

Share

Check Also

ओमेगा के 5 बच्चों ने नीट 2020 के रिजल्ट में लहराया परचम।

दरभंगा: नीट 2020 के रिजल्ट में ओमेगा स्टडी सेंटर दरभंगा के बच्चों ने दिखाया अपना जलवा साथ …