Home Featured कोविड केयर सेन्टर की व्यवस्था दुरुस्त करने केलिए प्रतिनियुक्त पदाधिकारी करेंगे नियमित जांच।
2 weeks ago

कोविड केयर सेन्टर की व्यवस्था दुरुस्त करने केलिए प्रतिनियुक्त पदाधिकारी करेंगे नियमित जांच।

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ0 त्यागराजन एसएम की अध्यक्षता में दरभंगा के अम्बेडकर सभागार में जिले के अलाधिकारियों के साथ (कोविड-19) कोरोना – मरीजों के ईलाज के लिए जिले के प्रखण्डों में बनाये गये कोविड केयर सेन्टर एवं परीक्षा भवन के डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेन्टर की व्यवस्था को दुरूस्त करने को लेकर बैठक की गयी।
बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि प्रखण्डों में बनाये गये कोविड केयर सेन्टर की स्थिति को दुरूस्त करना आवश्यक है। इसलिए प्रत्येक कोविड केयर सेन्टर में कोरोना मरीजों के ईलाज के लिए की गयी व्यवस्था की जाँच की जाए। कोविड केअर सेंटर में कितने कमरे हैं, कितने बेड हैं, कितने ऑक्सीजन सिलेण्डर हैं, ऑक्सीजन आपूर्ति की स्थिति क्या है, आपूर्तिकर्त्ता कौन है, साफ-सफाई की क्या स्थिति है, उसके आउटसोर्स एजेंसी कौन है, मरीजों के भोजन की क्या व्यवस्था है, उसके आउटसोर्स एजेंसी कौन है, विद्युत आपूर्ति की स्थिति कैसी है, पेयजल उपलब्ध है या नहीं, सुरक्षा की क्या स्थिति है, ट्रीटमेन्ट प्रॉटोकॉल के अनुसार दवा – पारासिटामोल, डॉक्सीसाईक्लिन, एजिथ्रोमाईसिंन, विटामिन – सी, विटामिन – बी. कम्पलेक्स, आईभर मेक्टिग, जिंक टेबलेट उपलब्ध हैं या नहीं, पल्स ऑक्सीमीटर, बी.पी. मशीन उपलब्ध है या नहीं, कितने एम्बुलेंस हैं, उस एम्बुलेंस से प्रतिदिन कितने कोरोना मरीज को लाया गया है, एम्बुलेंस की स्थिति क्या है, कोरोना मरीजों के लिए डेडिकेटेड एम्बुलेंस है या नहीं, यदि है तो उसके आगे-पिछे इस आशय का फ्लेक्स लगा हुआ है या नहीं, डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेन्टर तथा कोविड केयर सेन्टर में कितने चिकित्सक प्रतिनियुक्त हैं तथा उनमें से कितने चिकित्सक योगदान दिए, कितने काम कर रहे हैं और कितने काम नहीं कर रहे हैं, वहाँ प्रतिनियुक्त पारा मेडिकल स्टाफ, ए.एन.एम., जी.एन.एम. की संख्या क्या है तथा उनमें से कितने योगदान दिए, कितने काम कर रहे हैं और कितने नहीं कर रहे हैं, संबधित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के अन्तर्गत कितने कोविड मरीज होम आइसोलेशन में हैं तथा कितने मरीजों के यहाँ स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा भ्रमण किया गया है, होम आइसोलेशन के कितने मरीजों से दूरभाष के माध्यम से चिकित्सीय हाल लिया गया है तथा उन्हें चिकित्सीय सलाह दी जा रही है या नहीं, संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के अन्तर्गत किये जा रहे कोविड टेस्टिंग की स्थिति क्या है, कितने एन्टीजन और कितने आर.टी.पी.सी.आर. टेस्ट किये जा रहे हैं, टीकाकरण पंचायतवार रोस्टर बनाकर किया गया है या नहीं, उपलब्ध कराये गये टीका का शत्-प्रतिशत् इस्तेमाल हुआ है या नहीं।
उन्होंने कहा कि यदि जाँच के दौरान कोई कमी पायी जाती है, तो उसे तत्काल दुरूस्थ कराया जाए।
बैठक में जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को हायाघाट एवं बेनीपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को तत्काल हटाने के लिए संचिका उपस्थापित करने के निर्देश दिये तथा बहेड़ी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के सफाई करने वाले आउटसोर्स एजेंसी से कारणपृच्छा करने के निर्देश दिये।
कोविड केअर सेंटर जांच के लिए निम्न प्रकार से पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। वरीय उप समाहर्त्ता राहुल कुमार को बिरौल और गौड़ाबौराम, वरीय उप समाहर्त्ता अभिषेक कुमार को जाले एवं सिंहवाड़ा, वरीय उप समाहर्त्ता पुष्पिता झा को सदर पीएचसी, वरीय उप समाहर्त्ता कंचन झा को मनीगाछी एवं तारडीह, भूमि सुधार उप समाहर्त्ता, बिरौल को किरतपुर एवं घनश्यामपुर, भूमि सुधार उप समाहर्त्ता, सदर को बहादुरपुर एवं बहेड़ी, अपर अनुमण्डल पदाधिकारी, बिरौल को सतीघाट एवं कुशेश्वरस्थान, अपर अनुमण्डल पदाधिकारी सदर को केवटी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी को हनुमाननगर एवं हायाघाट पीएचसी व कोविड केअर सेंटर भेजा गया है।
बैठक में अपर समाहर्त्ता (राजस्व) विभूति रंजन चौधरी, अपर समाहर्त्ता (विभागीय जाँच) अखिलेश प्रसाद सिंह, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अजय कुमार, भूमि सुधार उप समाहर्त्ता सदर मो. सादूल हसन, डी.पी.एम. (हेल्थ) विशाल कुमार एवं संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …