Home Featured चिकित्सकों के साथ डीएम ने की बैठक, दिए कई निर्देश।
1 week ago

चिकित्सकों के साथ डीएम ने की बैठक, दिए कई निर्देश।

दरभंगा: कोरोना (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण को लेकर जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर (परीक्षा भवन) के टेली मेडिसिन सेन्टर में  एक बैठक आयोजित की गयी।
बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने उपस्थित सभी संबंधित पदाधिकारी को कई निर्देश दिए तथा डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर की व्यवस्था को और चाक-चौबंद करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया गया।
उन्होंने सभी संबंधित पदाधिकारी को पालीवार रोस्टर बनाकर कार्य करने के सख्त निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि चिकित्सक, पारा मेडिकल स्टाफ एवं ए.एन.एम की उपस्थिति शत-प्रतिशत होनी चाहिए। साथ ही जिलाधिकारी द्वारा सिविल सर्जन को वहाँ प्रतिनियुक्त कर्मियों के अलावे प्रशिक्षित जी.एन.एम., ए.एन.एम., पारा मेडिकल स्टाफ की संख्या और बढ़ाने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि दवा की कोई कमी नहीं होनी चाहिए, मरीज के लिये ऑक्सीजन की आपूर्ति में कोई कमी नहीं होनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में मॉडरेट कोरोना मरीज को ही भर्ती करना है तथा गंभीर (सिभियर) मरीज को डी.एम.सी.एच में बने कोरोना वार्ड में या किसी निजी अस्पताल जहाँ बेहतर व्यवस्था हो, वहाँ रेफर करना है। अभी वर्तमान में डेडीकेटेड कोविड कोविड हेल्थ सेंटर में 13 मरीज भर्ती हैं।
गौरतलब है कि दरभंगा शहरी क्षेत्र के 16 प्रमुख निजी अस्पतालों को अपने सामान्य, आई.सी.यू. एवं भेंडीलेटर युक्त वार्ड में कुल बेडों में से 50 प्रतिशत् बेड कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए आरक्षित रखने तथा उन्हें अलग कर प्रॉटोकॉल के अनुसार कोरोना वार्ड बनाने के निर्देश दिये गये हैं तथा इसकी निगरानी के लिए अपर समाहर्त्ता विभूति रंजन चौधरी की अध्यक्षता में *09 सदस्यीय प्राईवेट हॉस्पिटल निगरानी कोषांग* बनाया गया है, जो प्रतिदिन उन बेडों का हिसाब ले रही है तथा सभी हॉस्पिटलों में कोरोना संक्रमितों के ईलाज की निगरानी एवं अनुश्रवण कर रही है।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा भी कोरोना मरीजों को डिस्चार्ज करने से संबंधित गाइडलाइन जारी किया गया है। जिनमें मॉडरेट कोरोना मरीज जिनका SOP2 – 90% से अधिक है, उन्हें डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर या कोविड केयर सेंटर में रखने तथा जो माईल्ड कोरोना मरीज हैं, जिनका SOP2 – 94% से अधिक है, उन्हें होम आइसोलेशन में रखने का निर्देश दिया गया है। जिनका SOP2 – 90% से कम हो जाता है, उन्हें ही डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में रखने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी द्वारा सभी प्रतिनियुक्त पदाधिकारी को अपने-अपने पाली में ड्यूटी पर मुस्तैद रहने का निर्देश दिया।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …