Home Featured पद्मश्री प्राप्त जाने माने वैज्ञानिक डॉ मानस बिहारी वर्मा का निधन, पूर्व राष्ट्रपति कलाम के रह चुके हैं सहयोगी।
4 days ago

पद्मश्री प्राप्त जाने माने वैज्ञानिक डॉ मानस बिहारी वर्मा का निधन, पूर्व राष्ट्रपति कलाम के रह चुके हैं सहयोगी।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: देश के पहले सुपरसोनिक लड़ाकू विमान ‘तेजस’ को बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले पद्मश्री डॉ मानस बिहारी वर्मा का हार्ट अटैक से निधन हो गया। सोमवार की देर रात दरभंगा के लहेरियासराय स्थित आवास पर उन्‍होंने अंतिम सांस ली। डीआरडीओ, बेंगलुरु में रक्षा वैज्ञानिक रहे डॉ वर्मा पूर्व राष्ट्रपति कलाम के सहयोगी रहे थे।

मिली जानकारी के अनुसार उनका निधन सोमवार की रात करीब 11:45 बजे लहेरियासराय के केएम टैंक स्थित आवास पर हृदय गति रुकने से हो गया। डॉ वर्मा के भतीजे मुकुल बिहारी वर्मा ने इसकी पुष्टि की। डॉ वर्मा घनश्यामपुर प्रखंड के बाऊर गांव के मूल निवासी थे। वर्तमान में वे केएम टैंक मोहल्ले में किराए के मकान में रह रहे थे।

डॉ वर्मा डीआरडीओ, बेंगलुरु में रक्षा वैज्ञानिक व पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के सहयोगी रह चुके थे। लड़ाकू विमान ‘तेजस’ को बनाने में डॉ वर्मा की महत्वपूर्ण भूमिका थी। वे अविवाहित थे। उनके निधन की खबर मिलते ही केएम टैंक स्थित उनके आवास पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचने लगे। उनका अंतिम संस्कार बाऊर में किया जाएगा।
वहीं उनके निधन पर जिला प्रशासन की बेरुखी की चर्चा लोगों द्वारा देखी गयी। उनके आवास से 500 मीटर की दूरी पर तमाम अधिकारियों के रहने पर जिला स्तर के किसी पदाधिकारी के नही पहुँचने पर किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य अजीत कुमार मिश्रा ने आपत्ति जतायी। उन्होंने इसे सबसे बड़ा दुर्भाग्य कहा। उन्होंने कहा कि डॉ वर्मा मिथिला ही नही, बल्कि पूरे देश के धरोहर थे। पर उनके निधन की सूचना होने के वाबजूद न कोई अधिकारी आये और न एक एम्बुलेंस तक जिला प्रशासन द्वारा व्यवस्था की गयी। उनके पार्थिव शरीर को उनके खुद के संस्था के एम्बुलेंस में पैतृक गाँव ले जाया गया। उन्होंने इस उपेक्षा को डॉ वर्मा जैसे शख्सियत का अपमान बताया है।
हालांकि जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम द्वारा बाद में प्रेस रिलीज जारी करके गहरा शोक व्यक्त किया गया है। उन्होंने डॉ वर्मा के निधन को दरभंगा के साथ साथ पूरे भारतवर्ष केलिए अपूर्णीय क्षति बताया है।
उनके पार्थिव शरीर को पैतृक गांव पहुंचने पर जिला प्रशासन की ओर से एसडीएम ब्रज किशोर लाल द्वारा दिवंगत डॉ वर्मा के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गयी।
डॉ वर्मा के निधन पर कई लोगों ने शोक संवेदना व्यक्त की है।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …