Home Featured रोगमुक्ति एवं पर्यावरण शुद्धि में वनौषधि की महत्ता विषय पर पौधरोपण एवं परिसंवाद आयोजित।
2 weeks ago

रोगमुक्ति एवं पर्यावरण शुद्धि में वनौषधि की महत्ता विषय पर पौधरोपण एवं परिसंवाद आयोजित।

दरभंगा: आरोग्य भारती के तत्वावधान में रविवार को राजकीय आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय, मोहनपुर में पौधरोपण एवं परिसंवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। परिसंवाद का विषय ‘रोगमुक्ति एवं पर्यावरण शुद्धि में वनौषधि की महत्ता था। उद्घाटन भाषण देते हुए कामेश्वर सिंह संस्कृत विवि के पूर्व कुलपति प्रो. रामचंद्र झा ने कहा कि समुद्र मंथन से जब धन्वंतरि का उदय हुआ तो दोनों हाथों में वनौषधियां थीं जिससे देवताओं का कल्याण हुआ। जन कल्याण के लिए वनौषधियों का संवर्धन अति आवश्यक है।

मुख्य वक्ता डॉ. सुरेन्द्र प्रसाद गांई, पूर्व प्राचार्य महात्मा गांधी महाविद्यालय ने कहा कि स्वस्थ होने का अर्थ केवल शारीरिक रूप से रोग विहीन होना नहीं बल्कि मानसिक, शारीरिक, सामाजिक एवं आत्मिक रूप से प्रसन्न होना है। आरोग्य भारती जनमानस में इस को लाने के संकल्प के साथ प्रयत्नशील है। मुख्य अतिथि भाजपा की प्रदेश मंत्री डॉ. धर्मशीला गुप्ता ने भारतीय संस्कृति की विकृति पर चिंता व्यक्त करते हुए पौधरोपण की आवश्यकता और प्लास्टिक के उपयोग को रोकने के लिए जन जागरण अभियान चलाने पर बल दिया।

आरोग्य भारती के प्रांतीय सचिव सुधीर प्रसाद ने नोनी, विधारा, नीम, हरसिंगार इत्यादि के महत्व को रेखांकित किया। वनौषधि पर होमियोपैथिक दृष्टिकोण रखने का काम डॉ. उमाशंकर चौरसिया एवं डॉ. कामेश प्रसाद ने किया। वनौषधि केन्द्र, रोसड़ा के मनोज साह ने आगामी महीनों में गिलोय के 10 हजार पौधों को लगाने की योजना बताई। इस अवसर पर सृष्टि कला मंच के कलाकारों द्वारा ओडिशी एवं अन्य नृत्य की मनोहर प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम की शुरुआत सृष्टि फाउंडेशन के सत्यम झा और सुबोध दास ने ‘जय जय भैरवि की प्रस्तुति से की। दूसरी प्रस्तुति में नटराज के विभिन्न रूपों को ओडिसी नृत्य के माध्यम से प्रदर्शित किया गया। प्राचार्य डॉ. राजेश्वर दूबे ने आयुर्वेद में वनौषधि की महत्ता को प्रदर्शित करते हुए शिक्षकों की पात्रता पर बल दिया। अतिथियों का परिचय एवं स्वागत जिला सचिव डॉ. शैलेन्द्र लाल दास व धन्यवाद ज्ञापन डॉ. लेखनाथ झा ने किया। धन्वंतरि स्तवन एवं शांति पाठ ओम प्रकाश प्रसाद, उद्बोधन गीत शिवम एवं काव्य पाठ विनोद हसौरा ने किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथियों ने पौधरोपण किया।

Share

Check Also

19 से 25 मनेगा संस्कृत सप्ताह, पांच विशिष्ट विद्वान होंगे सम्मानित, छात्र भी होंगे पुरस्कृत।

दरभंगा: संस्कृत विश्वविद्यालय में 19 से 25 अगस्त तक संस्कृत सप्ताह का आयोजन होगा। इस दौरान…