Home Featured दो दिवसीय मिथिला लोक उत्सव का हुआ भव्य शुभारंभ।
4 weeks ago

दो दिवसीय मिथिला लोक उत्सव का हुआ भव्य शुभारंभ।

दरभंगा: दरभंगा जिला प्रशासन द्वारा आयोजित दो दिवसीय मिथिला लोक उत्सव का विधिवत शुभारंभ सोमवार की शाम दरभंगा ऑडिटोरियम में नगर विधायक संजय सरावगी, डीएम राजीव रौशन, डीपीआरओ आलोक राज व एडीएम सहित विभिन्न पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से किया।

Advertisement

इस दौरान अपने संबोधन में डीएम ने कहा कि पर्यटन विभाग, बिहार सरकार व जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में स्थानीय लोक कलाओं और विरासत को संजोने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। डीएम ने मिथिला के गौरवशाली इतिहास का वर्णन करते हुए कहा कि मिथिला का खानपान, पहनावा और यहां की भाषा ऐतिहासिक है। मिथिला का स्वर्णिम इतिहास रहा है। यहां कवि कोकिल विद्यापति, राजा जनक, ऋषि गौतम और अहिल्या के साथ ही मंडन मिश्र सहित कई ऐसे विभूति हुए जिनपर सभी मिथिलावासियों को गर्व की अनुभूति होती है। यदि हम अपना विकास चाहते हैं तो हमें अपनी संस्कृति व विरासत से जुड़कर रहना होगा।

Advertisement

डीएम ने मिथिला व दरभंगा के विकास की चर्चा करते हुए तारामंडल, फ्लोटिंग सोलर प्लांट, एयरपोर्ट व आईटी पार्क की चर्चा करते हुए कहा कि हर तरह से यहां का विकास हो रहा है। आज का दिन विशेष है क्योंकि एक ओर जहां हमने 75वां गणतंत्र दिवस मनाया वहीं दरभंगा ने कुछ दिन पहले ही अपना 150वां स्थापना दिवस मनाया है जो जिलेवासियों के लिए गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि मिथिला की अंतरराष्ट्रीय पहचान है। ज्योतिष व विज्ञान के क्षेत्र में मिथिला की अलग पहचान है।

Advertisement

नगर विधायक संजय सरावगी ने कहा कि मिथिला लोक उत्सव की शुरुआत 2013 में हुई थी। बीच में कोरोना के कारण यह बंद हो गया था, लेकिन फिर से बिहार सरकार ने इसकी शुरुआत की जो हर्ष का विषय है। यह उत्सव मिथिला के लोगों का उत्सव है। मिथिला की बोली इतनी मीठी व प्यारी है कि यदि किसी को गाली भी दें तो सुनने वाले को यह प्यारी लगती है। श्री सरावगी ने कहा कि अब पुन बिहार में डबल इंजन की सरकार बन गई है। जो विकास कार्य एक-डेढ़ वर्ष से रुक गया था वह पुन शुरू हो जाएगा। नगर विधायक ने कहा कि अब जल्द ही दोनार में आरोबी का काम भी शुरू हो जाएगा क्योंकि पिछले एक वर्ष से विकास के कार्य ठप पड़े थे। लेकिन डबल इंजन की सरकार में विकास कार्य को पंख लगेंगे। कार्यक्रम में ध्रुपद गायक पद्मश्री पंडित राम कुमार मल्लिक को एडीएम राजेश झा राजा ने पाग-चादर व स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया।

Share

Check Also

पोलो मैदान में देर रात तक मिथिला के गीत-संगीत एवं संस्कृति की बहती रही रसधार।

दरभंगा: दरभंगा महोत्सव के पांचवें संस्करण का शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन ह…